योग प्रशिक्षण एवं चिंतन शिविर के पांचवे दिन विद्यार्थियों ने किया योग अभ्यास

रायपुर, 19 जून 2017, आज के भौतिक युग में योग का महत्व और बढ़ गया है। योग सकरात्मक ऊर्जा प्रदान करता है। यह व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत आवश्यक है। इसलिए योग को अलग नजरिये से देखने की जरूरत नहीं है। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय सेवा योजना और उच्च शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित पिछले गुरूवार से सात दिवसीय राज्य स्तरीय योग प्रशिक्षण एवं चिंतन शिविर ( योग फेस्ट ) की शुरूआत हुई। इस शिविर में राज्य के स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा, तकनीकी महाविद्यालयों और विद्यालयों के लगभग 400 छात्र-छात्राएं भाग ले रहे है।  योग का प्रशिक्षण पतंजलि योग पीठ के विशेषज्ञों द्वारा दिया जा रहा है।
योग शिविर के आज पांचवें दिन विद्यार्थियों को ध्यान का अभ्यास कराया गया। तकनीकी सत्र में पूरे प्रशिक्षणार्थियों के पांच समूहों को तकनीकी उत्पादन मशरूम, कम्पोस्ंिटग, हस्त निर्मित कागज बनाने, रसीले फलों से पेय पदार्थ बनाने आदि की जानकारी दी गई। विद्यार्थियों को कृषि विश्वविद्यालय के महत्वपूर्ण प्रयोगशालाओं का भ्रमण कराया गया। शिविर में योग अभ्यास के साथ-साथ इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स की व्यावहारिक जानकारी दी गई। उल्लेखनीय है कि 15 जून को इस सात दिवसीय राज्य स्तरीय योग शिविर का शुभारंभ उच्च शिक्षा मंत्री श्री  प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने किया था। पूरे विश्व में 21 जून को तीसरा  योग दिवस मनाया जा रहा है।
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment
इस समाचार को छत्‍तीसगढ़ी में पढ़ें ..