कृषि मंत्री श्री अग्रवाल शामिल हुए राष्ट्रीय सामूहिक विधवा पुनर्विवाह सम्मेलन में

रायपुर 19 जून 2017, कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि विवाह एक पवित्र बंधन है। इस बंधन को अटूट बनाये रखने में पति-पत्नी के बीच आपसी समझ होनी चाहिए। एक-दूसरे के प्रति सम्मान की भावना पारिवारिक जीवन को सुखद बनाती है। श्री अग्रवाल कल यहां  जे.एन पांडेय शासकीय बहुउद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सभागार में आयोजित राष्ट्रीय सामूहिक विधवा (कात्यायनी) पुनर्विवाह एवं विधवा एवं वैध परित्यकता परिचय सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। सम्मेलन का आयोजन नेचर्स केयर एवं सोशल वेलफेयर सोसायटी द्वारा किया गया।
श्री अग्रवाल ने कहा कि परिवार को वैवाहिक जीवन को सफल बनाने में सहन-शक्ति की परीक्षा होती है। इसलिए छोटी-छोटी बातों को लेकर जीवन की बड़े निर्णय नहीं लिए जाने चाहिए। जीवन की सफलता तभी है जब हम तकलीफों से लड़ते हुए आगे बढें , क्योंकि सुख और दुख सिक्के के दो पहलू हैं। जिसके जीवन में कल दुख आया है, निश्चित रूप से आने वाले कल में उसे खुशियां मिलेंगी। सम्मेलन में नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद देते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि विवाह के बाद आपका नया जीवन शुरू हो रहा है। सभी अपने इस वैवाहिक जीवन को बेहतर ढंग से निभाएं और इस जन्म का आपका बंधन सात जन्मों तक बना रहे ऐसी मेरी शुभकामनाएं हैं। इस अवसर पर उन्होंने विवाहित जोड़ों को सगुन भेंट कर उनके सुखी और समृद्ध रहने की कामना की।
इस सम्मेलन के आयोजक संस्था की सराहना करते हुए कृषि मंत्री श्री अग्रवाल ने कहा कि सामाजिक जवाबदेही का एक बड़ा उदाहरण यह संस्था प्रस्तुत कर रही है। मुझे विश्वास है कि समाज को राह दिखाते हुए यह संस्था निरंतर इसी प्रकार से काम करती रहेगी। इस अवसर पर संस्था की अध्यक्ष सुश्री विनीता पांडे, श्री प्रदीप शितुत,  श्री माधवलाल यादव, श्री सौरभ तिवारी, सुश्री छाया राय, सुश्री राधा राजपाल, सुश्री माही विश्वकर्मा, सुश्री सुमन यादव, सुश्री ज्योति ठाकुर, सुश्री अनुराधा चौधरी, श्री सुभाष अग्रवाल, श्री भारतीय शर्मा, श्री अमित कुमार, श्री चेतन चंदेल, श्री सुनील नायक, सुश्री सपना जसूजा और श्री लल्ला साहू भी उपस्थित थे।
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment
इस समाचार को छत्‍तीसगढ़ी में पढ़ें ..