अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर छत्तीसगढ़ ने बनाया विश्व कीर्तिमान


  • राज्य के 50 लाख लोगों का सामूहिक योग प्रदर्शन गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामि
  • मुख्यमंत्री को सौंपा गया विश्व कीर्तिमान का प्रमाण पत्र
  • स्वस्थ तन-मन से ही होगा स्वस्थ छत्तीसगढ़ और स्वस्थ देश का निर्माण: डॉ. रमन सिंह  
  • मुख्यमंत्री के साथ 600 स्कूली बच्चों ने किया योगाभ्यास
  • अनेक जनप्रतिनिधि, नागरिक और वरिष्ठ अधिकारी भी हुए शामिल


रायपुर, 21 जून 2017, तीसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में आज सवेरे छत्तीसगढ़ राज्य ने एक अनोखा विश्व कीर्तिमान बनाया। मुख्यमंत्री के साथ  राज्य के लगभग 50 लाख लोगों ने अलग-अलग स्थानों पर एकसाथ योगाभ्यास किया। प्रदेश के लगभग 11 हजार स्थानों पर स्कूली बच्चों, बुजुर्गो, युवाओं और महिलाओं सहित समाज के सभी वर्गों ने पूरे उत्साह के साथ योगाभ्यास किया। 
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह राजधानी रायपुर के बूढ़ातालाब (विवेकानंद सरोवर) के सामने इंडोर स्टेडियम में 600 स्कूली बच्चों के साथ एक घण्टे तक सामान्य योग अभ्यास क्रम के अनुसार योग के विभिन्न आसनों का अभ्यास किया। योग अभ्यास कार्यक्रम छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष श्री संजय अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में एक साथ लगभग 50 लाख लोगों के योगाभ्यास के कीर्तिमान को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में दर्ज किया गया । कार्यक्रम में उपस्थित गोल्डन बुक ऑफ वर्ड रिकार्डस् के आब्जर्वर श्री संतोष अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को इस विश्व कीर्तिमान का प्रमाण पत्र सौंपा। आयोजन में मुख्यमंत्री के साथ स्कूली बच्चों के अलावा कई जनप्रतिनिधियों और शासन प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी योग अभ्यास किया। 
डॉ.रमन सिंह ने सामूहिक योग अभ्यास  के बाद स्कूली बच्चों और नागरिको को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित करते हुए कहा - स्वस्थ तन-मन से ही स्वस्थ छत्तीसगढ़ और स्वस्थ देश का निर्माण होगा। छत्तीसगढ़ के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है, जब प्रदेश  के करीब 50 लाख लोगों ने एकसाथ अलग-अलग स्थानों पर योग करके विश्व कीर्तिमान कायम किया है। मैं इसके लिए प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूॅ। मुख्यमंत्री ने कहा - योग को हमें अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।  हमने यहां केवल आज ही नही बल्कि वर्ष के पूरे 365 दिन योग करने का संकल्प लिया है। इस संकल्प पर हमें कायम रहना होगा। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जतायी कि आज जिन 600 स्कूली बच्चों ने यहां पर योगाभ्यास किया है, वे अपने माता-पिता सहित अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरणा देते रहेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा - पूरे देश और दुनिया में आज का दिन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा है, इसका श्रेय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को जाता है जिन्होंने भारत की प्राचीन योग शिक्षा, ज्ञान-विज्ञान और संस्कृति का विश्व स्तर पर मान बढ़ाया। श्री मोदी के प्रस्ताव पर ही संयुक्त राष्ट्र संघ के 193 ने देशों ने भारत की योग शिक्षा को मान्यता दी और 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया। मुख्यमंत्री ने जन-जन तक योग को पहुचाने और लोकप्रिय बनाने में महत्वपूर्ण योगदान के लिए पंतजलि योग पीठ के संस्थापक योगगुरू बाबा रामदेव को भी इस अवसर बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में पंतजलि योग पीठ के योग प्रशिक्षकों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। 
गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के पर्यवेक्षक श्री संतोष अग्रवाल ने लोगों को बताया कि यूएसए में एक कंपनी में 1800 लोगों ने एक साथ योगाभ्यास करने का रिकार्ड बनाया था, पिछले साल छत्तीसगढ़ के दुर्ग में एक लाख लोगों ने एक स्थान एक साथ योग करने का रिकार्ड बनाया है और आज छत्तीसगढ़ राज्य ने 11 हजार अलग-अलग स्थानों पर करीब 50 लाख लोगों ने योग करने का अनूठा कीर्तिमान स्थापित किया है। इण्डोर स्टेडियम में आयोजित सामूहिक योग अभ्यास में रायपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री रमेश बैस, विधायकगण सर्वश्री सत्यनारायण शर्मा, श्रीचंद सुंदरानी, श्री आर.के.राय और भोजराज नाग, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन.उपाध्याय, स्कूल शिक्षा सचिव श्री विकासशील, समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा सहित अनेक जनप्रतिनिधियों और वरिष्ठ अधिकारियों ने भी योगाभ्यास किया। गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड के पर्यवेक्षक श्री संतोष अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को प्रमाण पत्र सौंपते हुए कार्यक्रम में बताया कि आज प्रदेश भर के सामूहिक योग अभ्यास के आंकड़े प्राविधिक हैं। गोल्डन बुक वर्ल्ड रिकार्ड द्वारा अंतिम आंकड़े दो-तीन दिन में जारी कर दिए जाएंगे।
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment
इस समाचार को छत्‍तीसगढ़ी में पढ़ें ..