शहीद वीरनारायण सिंह की विशाल कांस्य प्रतिमा की स्थापना के लिये भूमि पूजन संपन्न हुआ

■ रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर वीर नारायण चौरा निर्माण की नींव रखी।
■ छत्तीसगढ़ के सैकड़ों गांवो के देवालयो से पावन माटी पहुँची बसना।
■ छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना तथा सर्व आदिवासी समाज ने किया आयोजन।

रायपुर : बसना नगर के लिए चौबीस जून वीरांगना रानी दुर्गावती का बलिदान दिवस ऐतिहासिक बन गया, यहां छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना एवं सर्व आदिवासी समाज की अगुवाई में अमर शहीद वीरनारायण सिंह की विशाल कांस्य प्रतिमा की स्थापना के लिये भूमि पूजन संपन्न हुआ। बैगा गुरुओं द्वारा आदिवासी परंपरा के तहत पूजा की गई। सभा का वातावरण उस समय भाव से परिपूर्ण हो गया जब अमर शहीद वीरनारायण सिंह के घर सोनाखान , उनके शहादत स्थल जयस्तंभ चौक रायपुर, गिरौदपुरी धाम, शिवरीनारायण, कौशिल्या जन्म भूमि चंदखुरी सहित पूरे छत्तीसगढ़ के चारों दिशाओं के सैकड़ों देवस्थानों, महापुरुषों के आंगन की मिट्टी को एक बड़े कांस्य पात्र मे एकत्रित किया गया। पूरी सभा इस महत्वपूर्ण क्षण की साक्षी बनी, इस मिट्टी की क्षेत्रवासियों के द्वारा रोजाना आराधना की जाएगी। मूर्ति स्थापना करीब एक माह बाद इसी मिट्टी के उपर की जायेगी।


इस कार्यक्रम को सभा के वक्ताओं ने मूर्ति भंजक षड़यंत्र कारियों के खिलाफ छतीसगढ़िया स्वाभिमान की जीत निरुपित किया, कहा गया आजादी की लड़ाई में जिन तत्वों ने अंग्रेजों के साथ मिलकर अमर शहीद वीरनारायण सिंह जी को मृत्युदंड दिलाया उन्ही तत्वों से आज भी छत्तीसगढ़ को खतरा है। छतीसगढ़िया अस्मिता से खिलवाड़ करने वाले लोगों को अंजाम भुगतने की कड़ी चेतावनी क्रान्ति सेना ने दी है। आंदोलन उग्र होने की संभावना को देखते जिला प्रशासन ने सैकड़ों की संख्या में पुलिस फोर्स तैनात किये थे। सभा को छतीसगढ़िया क्रांति सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. अजय यादव, पूर्व जिला पंचायत सदस्य देवकी दीवान, डॉ. डी के मंडरीक, विनोद सेन, जिला पंचायत सदस्य त्रिलोचन नायक, छक्रासे संयोजक गिरधर साहू, जोगेश भारद्वाज, पूर्व सांसद सोहन पोटाई, किसान नेता ठाकुर रामगुलाम और छतीसगढ़िया क्रांति सेना अध्यक्ष अमित बघेल ने संबोधित किया, कार्यक्रम का सफल संचालन यशवंत वर्मा ने किया। इस आयोजन में छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना के हजारों कार्यकर्ता के साथ छत्तीसगढ़िया समाज, आसपास के ग्रामीण हजारों की संख्या में उपस्थित थे
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment
इस समाचार को छत्‍तीसगढ़ी में पढ़ें ..